डीएनए विश्लेषण की नई तकनीक विकसित

डीएनए विश्लेषण की नई तकनीक विकसित


                  न्यूयॉर्क ( यूएसए ) की प्रयोगशाला के वैज्ञानिकों ने 8 सितम्बर , 2018 को डीएनए विश्लेषण की नई तकनीक विकसित करने का दावा किया जिसे ' वर्ल्ड ट्रेड सेण्टर प्रोटोकॉल नाम दिया गया है । वैज्ञानिकों ने एक नई प्रविधि के माध्यम से लोगों की पहचान सुनिश्चित करने में सफलता प्राप्त की है । नई तकनीक में दुर्घटना स्थल से प्राप्त अस्थि खण्डों की जाँच की जाती है । इन नमूनों का | स्व - निष्कर्षन मशीन में रखा जाता है जो । क्षतिग्रस्त सामग्रियों से डीएनए सूचनाएँ प्राप्त  करती हैं । मशीन में हड्डी को द्रव नाइट्रोजन चेम्बर में रखा जाता है जो इसे और कमजोर बना देता है । इससे हड्डी को पाउडर में बदलने में सहायता मिलती है । 11 सितम्बर , 2001 को न्यूयॉर्क ( यूएसए ) में स्थित ‘ वर्ल्ड ट्रेड सेण्टर ' के ‘ ट्विन टॉवर ' पर हवाई जहाज से आतंकवादी हमला किया गया था । इस हमले में 2753 व्यक्ति मारे गए थे , जिसमें से 1000 से अधिक लोगों की पहचान नहीं हो सकी है । यह तकनीक ऐसे लोगों की पहचान करने में मदद करेगी



वैज्ञानिकों को गेहूं के जीनोम को डिकोड करने में मिली सफलता
       अनुसंधानकर्ताओं की एक टीम ने गेहूँ के जटिलतम जीनोम को डिकोड करने में सफलता प्राप्त की है । इस बात की घोषणा 18 अगस्त , 2018 को की गई। अनुसंधानकर्ताओं की टीम में 18 भारतीय वैज्ञानिक भी शामिल हैं । पहली बार गेहूँ के जीनोम को डिकोड करने में सफलता प्राप्त हुई है । इस अनुसंधान के साथ गेहूं की डीएनए संरचना को स्पष्ट किया गया है। जिससे नई प्रजातियों के गेहूं के विकास में सहायता प्राप्त होगी ।

Post a Comment

0 Comments